साफ पानी तक पहुंच की कमी की वजह से हर साल लगभग दस लोग मर जाते हैं। बच्चे और बुजुर्ग सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। यह दूषित पानी से जुड़ी बीमारियों से प्रतिदिन मारे जाने वाले लगभग एक हजार बच्चों में बदल जाता है। एक अच्छी तरह से प्रबंधित आपूर्ति के साथ-साथ पानी रहित स्वच्छता प्रणाली नाटकीय रूप से 700 मिलियन से अधिक लोगों के लिए जीवन की गुणवत्ता में सुधार करेगी। विशेष रूप से उन लोगों के लिए जिन्हें गुणवत्ता पूर्ण पानी के निरंतर स्रोत तक पहुंच की समस्या है।

पानी का नुकसान

ताजा पानी जीवन के लिए एक आवश्यक प्राकृतिक संसाधन है, लेकिन 2025 तक दुनिया की आधी आबादी शायद उन क्षेत्रों में रह रही होगी जहां पानी की कमी है। वर्तमान में, कुछ शहरों में 50% से अधिक पानी का नुकसान है। यह इस महत्वपूर्ण संसाधन की एक बड़ी बर्बादी को दर्शाता है। श्रेष्‍ठ प्रबंधन का अभाव काफी अपशिष्ट उत्पन्न करता है। इसके अतिरिक्त, पानी की आपूर्ति और स्वच्छता नेटवर्क के उपचार के लिए आवश्यक कई संसाधन बर्बाद हो जाते हैं। इसलिए, पानी के नेटवर्क का एक निरंतर, सटीक माप होना महत्वपूर्ण है। यह एक बेहतर प्रबंधन को सुनिश्चित करता है, इस प्रकार पानी के नुकसान का प्रतिशत कम होता है।

पानी-नेटवर्क-निचली-पहुंच

अपशिष्‍ट जल की समस्‍या

अपंजीकृत पानी नेटवर्क में डाले जा रहे पानी और सभी मीटरों के योग के बीच का अंतर है। यदि सिस्‍टम सही होते तो यह शून्‍य होता। हालाँकि, यह अनिवार्य रूप से दो कारणों से नहीं हो पाता है:

पहला, माप की खामियों के कारण। दूसरा, सिस्‍टम में रिसावों के कारण।

तकनीकी प्रगतियों के कारण सेंसर अशुद्धियों को कम किया जा सकता है। लेकिन दूसरी ओर, आपूर्ति नेटवर्क में रिसाव मुख्य रूप से रखरखाव में कमी के कारण होता है। इनमें लगने वाले तत्‍वों की मरम्‍मत जरूरी है। पानी के नेटवर्कों में बहुत दबाव के कारण भी रिसाव हो सकते हैं। अपंजीकृत पानी के इस अंश को बेहतर करने और कम करने के लिए सुधार की बहुत गुंजाइश है।

संक्षेप में, नेटवर्क में नुकसान होने वाली मात्रा निम्‍नलिखित कारकों पर निर्भर करती है:

  1. पाइपलाइन की उम्र
  2. सिस्टम पर दबाव
  3. दैनिक प्रवाह में बदलाव
  4. नेटवर्क सेंसरिंग
  5. प्रबंधकों की प्रतिक्रिया समय
  6. गैर-कानूनी कनेक्‍शन

वर्तमान में, कुछ शहरों में आपूर्ति नेटवर्क हैं जो अपने पानी का 50% से अधिक खो देते हैं

Qatiumइंटेलीजेंट असिसटेंट

पानी के नुकसान से बचाव हेतु रणनीति

पानी के नुकसान के प्रबंधन के लिए एक अच्छी रणनीति का प्रस्ताव रखना अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण है। हम समस्या को हल करने के लिए निम्नलिखित प्रश्नों पर विचार करते हैं:

  1. कितनी मात्रा में पानी का नुकसान हो रहा है? नेटवर्क के जल संतुलन की गणना करना आवश्यक है। यह डाले और निकाले गए पानी की मात्रा के बीच अंतर का परिणाम है।
  2. वे नुकसान कहां हो रहे हैं? एक नेटवर्क ऑडिट यह पता लगाने में मदद करता है कि रिसाव कहां हो रहे हैं। इस बिंदु पर यह आवश्‍यकतौर पर महत्वपूर्ण है कि नेटवर्क में यह पता लगाने के लिए सेंसर हो कि रिसाव कहां हो रहा है। डाटा प्रोसेसिंग जरूरी है। इस समाधान को कम से कम समय लेना चाहिए। इससे पानी की बर्बादी कम होती है।
  3. पानी का नुकसान क्‍यों हो रहा है? ये नुकसान क्‍यों होते हैं इसके कारणों का पता लगाने से हम समस्या का समाधान खोज सकते हैं। इसके लिए, प्रबंधित किए जा रहे नेटवर्क का व्‍यापक ज्ञान होना आवश्‍यक है।
  4. इससे बचने के लिए हम क्या कर सकते हैं? समस्या के कुशल और प्रभावी समाधान को चुनने में एक स्पष्ट रिसाव नियंत्रण रणनीति का होना आवश्यक है। परिदृश्य अनुसरण का उपयोग करते हुए एक अध्ययन से हम यह समझ सकते हैं कि सर्वश्रेष्‍ठ समाधान कौन सा है।
  5. हम इसे भविष्य में होने से कैसे रोक सकते हैं? एक बार समस्या हल हो जाने के बाद, उद्देश्य इसे रोकना है। यह एक स्थायी रणनीति बनाए रखने और उपलब्धियों को संरक्षित करने के लिए आवश्यक है।
पानी-नेटवर्क-पाइप

पानी के पाइपलाइन का रखरखाव

वर्तमान और भविष्‍य

रिसावों को कम करने के लिए एक सर्वश्रेष्‍ठ रणनीति स्थापित करने के लिए डेटा संग्रह और विश्लेषण आवश्यक है। संवेदीकरण (IoT) की लागतों में सुधार करने और उसे कम करने से कई प्रकार की संभावनाएं खुलती हैं। साथ ही, बड़े डेटा वॉल्यूम (बड़े डेटा) के प्रतिपादन में प्रगतियों से मदद मिलती है। कृत्रिम बुद्धिमता के उपयोग के माध्यम से प्रोसेसिंग तकनीकों में सुधार करने से पानी के नुकसान को कम करने में महत्वपूर्ण प्रगति मिलती है। दुनिया के हर कोने में बड़ी चुनौतियां है और सही साधनों के साथ उन चीजों का समाधान खोजा जा सकता है जो आज असंभव लगता है।