ताजा पानी जीवन और खाद्य उत्पादन के लिए एक आवश्यक तत्व है। मनुष्य प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से भारी मात्रा में पानी का उपयोग करता है। ध्यान रखें कि ग्रह का केवल 2.5% पानी ही ताजा पानी है! इसके अलावा, इन प्रतिशत का 2% ग्लेशियरों में है। इस प्रकार, हमारे पास उपयोग करने के लिए बहुत कम प्रतिशत में ताजा पानी है। जलवायु परिवर्तन और बढ़ती जनसंख्या के कारण, क्या कोई समय होगा जब हमें विभिन्न जल उपयोगों के बीच चयन करना होगा? जैसे कि इसे पीने के पानी के तौर पर इस्‍तेमाल किया जाए या फिर खेती के लिए इस्‍तेमाल किया जाए?

मानव उपभोग के लिए पानी का उपयोग

स्वच्छ जल और स्वच्छता तक पहुंच एक आवश्यक मानव अधिकार है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि संसाधनों की कमी स्वास्थ्य को प्रभावित न करे, हमें प्रति दिन 5 गैलन की न्यूनतम सीमा के साथ 13 से 26 गैलन की आवश्यकता होती है। वर्तमान में 1.1 बिलियन लोगों के पास इस न्यूनतम सीमा तक पहुंच की गारंटी नहीं है। वे एक दिन में केवल 1 गैलन पानी का उपभोग कर जी रहे हैं।

विकसित देशों में, पानी की खपत उनके नागरिकों की जीवन शैली और आदतों पर निर्भर करती है। एक दिन में आप कितने पानी की खपत कर रहे हैं इसकी गणना करना एक रोचक अभ्‍यास है। एक अनुमान पाने के लिए, आपको गतिविधियों के साथ उनकी औसत पानी खपत की एक सूची मिल सकती है।

पानी-खपत-उपयोग

औसतन, एक निवासी प्रति दिन 40 गैलन पानी का उपयोग करता है। अगले 30 वर्षों में, ग्रह पर आबादी दोगुनी हो सकती है, और उस वृद्धि को और अधिक संसाधनों की आवश्यकता होने वाली है। इससे पीने के पानी की मांग में भारी वृद्धि होगी।

दूसरी तरफ, हमने पहले से ही कई प्राकृतिक स्रोतों, जैसे जलभृतों को समाप्त कर दिया है। इसके अलावा, तापमान में वृद्धि भी जल संसाधनों को कम करती है।

ग्रह का केवल 2.5% पानी ताजा है, और 2% हिमनदों से आता है

Qatiumइंटेलीजेंट असिसटेंट

कृषि के लिए पानी का उपयोग

हम पहले से ही अपने प्रत्यक्ष जल खपत को जानते हैं। अब समय अप्रत्यक्ष खपत पर ध्यान देने का है। जीवन के लिए आवश्यक अनाजों के उत्पादन करने के लिए हमें भारी मात्रा में पानी की आवश्यकता होती है। जैसा कि संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) ने दर्शाया है, एक व्यक्ति के दैनिक भोजन की खपत का उत्पादन करने में लगभग 1,300 गैलन पानी लगता है। इसका मतलब है कि एक ओलंपिक स्विमिंग पूल में एक दिन में 500 लोगों को खिलाने लायक पानी भरा है।

पानी-खपत-कृषि-चावल

योग्याकार्ता (इंडोनेशिया) के पास चावल की खेती करते किसान

इस जटिल स्थिति को उलटने के लिए, कुछ समाधानों में सिंचाई तकनीक का आधुनिकीकरण करना, अपरंपरागत स्रोतों जैसे अलवणीकृत पानी का उपयोग करना या स्थानांतरण प्रणालियों का उपयोग करना शामिल है। लेकिन इन उपायों का एक उच्च पर्यावरणीय, सामाजिक और आर्थिक प्रभाव है, इसलिए जटिल जल समस्या का कोई सरल समाधान नहीं है

यूरोपीय संघ के कुछ देशों में कृषि के लिए उपयोग किए जाने वाले पानी का प्रतिशत 80% तक पहुंच जाता है। उनमें से कई देशों में पहले से ही पानी की कमी की समस्या है। अत: पानी की समस्या जल्द ही सभी क्षेत्रों को प्रभावित करने वाली है।

जिम्मेदार उपयोग

कुछ स्थानों में अनाज का उत्पादन करने के लिए आवश्यक पानी की कमी से कृषि गतिविधियों में रूकावट आ जाता है। जलवायु मुद्दों के कारण बड़ी संख्या में लोग विस्‍थापित हो रहे हैं। वर्तमान में, यह स्थिति सबसे गरीब क्षेत्रों को प्रभावित कर रही है, लेकिन जल्‍द ही यह पूरे ग्रह को प्रभावित करेगी।

ऐसे वर्तमान और भविष्य से बचाव के लिए जिसमें पीने के लिए या भोजन का उत्पादन करने के लिए पानी का उपयोग करने के बीच तय करना होगा, जिम्मेदार खपत आवश्यक है। पानी की कमी हर किसी की समस्या है।